Meaning of word abstain

in English - Hindi Dictionary
abstain 1. परहेज़~करना, से~दूर~रहना "He has been adviced to abstain from smoking."

Sentence patterns related to "abstain"

Below are sample sentences containing the word "abstain" from the English - Hindi Dictionary. We can refer to these sentence patterns for sentences in case of finding sample sentences with the word "abstain", or refer to the context using the word "abstain" in the English - Hindi Dictionary.

1. “Abstain From Fornication”

“व्यभिचार से दूर रहो”

2. Abstain from every form of wickedness.”

हर तरह की दुष्टता से दूर रहो।”

3. Provisions to Help Us Abstain From Blood

खून से परे रहने में हमारी मदद करनेवाले इंतज़ाम

4. The governing body concluded that Christians must ‘abstain from blood’

शासी निकाय ने यह फैसला सुनाया कि मसीहियों को हर हाल में ‘लहू से परे’ रहना चाहिए

5. When should a Christian talk to his doctor about his decision to abstain from blood?

एक मसीही को लहू से दूर रहने के अपने निर्णय के बारे में अपने डॉक्टर से कब बात करनी चाहिए?

6. Why should Christians abstain from all nonmedical use of addictive or mind-altering natural or synthetic substances?

मसीहियों को नशे के लिए दवाइयाँ या कोई और चीज़ क्यों नहीं लेनी चाहिए, फिर चाहे वे कुदरती तौर पर पायी जाती हों या इंसानों की बनायी हुई हों?

7. This is the will of God, that you should be holy and abstain from sexual immorality. —1 Thess.

परमेश्वर की मरज़ी यही है कि तुम पवित्र बने रहो और नाजायज़ यौन-संबंधों से दूर रहो। —1 थिस्स.

8. When the church introduced the daily Eucharist, it meant that priests had to abstain from sexual intercourse permanently.

जब चर्च ने हर दिन कम्यूनियन शुरू किया तो इसका अर्थ था कि पादरियों को हमेशा ही लैंगिक संभोग से दूर रहना था।

9. If your doctor told you to abstain from alcohol, would you have it injected into your veins?

अगर डॉक्टर आपको शराब पीने से मना करता है, तो क्या आप इसे अपने शरीर में चढ़वाएँगे?

10. Nazirites were to abstain from the product of the vine and all intoxicating beverages, requiring self-denial.

नाज़ीरों को अंगूर की बनी चीज़ों और हर तरह की शराब से परहेज़ करना था। इसके लिए उन्हें अपनी इच्छाओं का त्याग करने की ज़रूरत थी।

11. So the command to abstain from blood means that we would not allow anyone to transfuse blood into our veins.

और न ही हम किसी और को यह इजाज़त दें कि हमें खून चढ़ाए।

12. Two Biblical accounts of early Christians who did fast show that if with good motive a person chooses to abstain from food, this is acceptable to God.

बाइबल में ऐसे दो वाकये दर्ज़ हैं, जिनमें बताया गया है कि शुरू के मसीहियों ने उपवास किया था। ये वाकये दिखाते हैं कि अगर एक इंसान नेक इरादे से खाने का त्याग करता है, तो परमेश्वर इससे खुश होता है।

13. William Casey, director of the CIA (Central Intelligence Agency) states: “We cannot and will not abstain from forcible action to prevent, preempt, or respond to terrorist acts where conditions merit the use of force.

सी आय ए (केन्द्रीय गुप्तचर विभाग) के निर्देशक विलियम केसी ने कहा “आतंकवादी कार्यों को रोकने या पहले से अधिकृत करने के लिए जहाँ परिस्थिति शक्ति का उपयोग आवश्यक समझती है तब हम बलकृत कार्यों से न पीछे हट सकेंगे या हटेंगे।

14. 14 Paul urges Christians to abstain from fornication and to exercise self-control so that “no one go to the point of harming and encroach upon the rights of his brother.”

१४ पौलुस मसीहियों से व्यभिचार से दूर रहने और संयम बरतने का आग्रह करता है ताकि “कोई अपने भाई को न ठगे, और न उस पर दांव चलाए।”

15. With good reason, then, the Scriptures say: “This is what God wills, the sanctifying of you, that you abstain from fornication; that each one of you should know how to get possession of his own vessel in sanctification and honor, not in covetous sexual appetite such as also those nations have which do not know God; that no one go to the point of harming and encroach upon the rights of his brother in this matter, because Jehovah is one who exacts punishment for all these things.”—1 Thessalonians 4:3-6.

बाइबल की सलाह कितनी सही है: “परमेश्वर की इच्छा है कि तुम पवित्र बनो, अर्थात् व्यभिचार से बचे रहो, कि तुम में से प्रत्येक व्यक्ति अपने पात्र को आदर और पवित्रता के साथ वश में रखना जाने, यह अन्यजातियों के समान कामुक होकर नहीं जो परमेश्वर को नहीं जानते, कि इस बात में कोई भी अपने भाई का अपराध न करे और न उसे ठगे, क्योंकि प्रभु इन सारी बातों का बदला लेने वाला है।”—1 थिस्सलुनीकियों 4:3-6, फुटनोट, NHT.