Meaning of word almighty

in English - Hindi Dictionary
almighty 1. सर्वशक्तिमान "God almighty bless you!"

Sentence patterns related to "almighty"

Below are sample sentences containing the word "almighty" from the English - Hindi Dictionary. We can refer to these sentence patterns for sentences in case of finding sample sentences with the word "almighty", or refer to the context using the word "almighty" in the English - Hindi Dictionary.

1. Let the Almighty answer me!

काश! सर्वशक्तिमान मुझे जवाब दे।

2. As the Almighty, God has absolute power.

हम जानते हैं परमेश्वर सर्वशक्तिमान है, इसलिए उसके पास असीम सामर्थ्य है।

3. 10 Or will he find delight in the Almighty?

10 क्या ऐसा इंसान सर्वशक्तिमान में खुशी पाता है?

4. There was an almighty din, red Chinese flags everywhere.

इसकी दीवारों पर बाहर की ओर बढ़िया नीली चीनी मिट्टी के पत्थर लगे हुए थे।

5. Jesus today is neither a man nor God Almighty.

जी नहीं, आज यीशु न तो एक इंसान है, ना ही सर्वशक्तिमान परमेश्वर है।

6. + 11 God further said to him: “I am God Almighty.

+ 11 परमेश्वर ने उससे यह भी कहा, “मैं सर्वशक्तिमान परमेश्वर हूँ।

7. The apostle Peter refers to a future intervention by God Almighty.

प्रेरित पतरस सर्वशक्तिमान परमेश्वर द्वारा एक भावी हस्तक्षेप के बारे में बताता है।

8. 19 Jehovah’s principal qualities also include perfect justice, infinite wisdom, and almighty power.

१९ यहोवा के मुख्य गुणों में परिपूर्ण न्याय, असीम बुद्धि, और सर्वशक्ति भी सम्मिलित है।

9. In the waiting arms of the Almighty, this man finds shelter from hounding persecutors.

सर्वशक्तिमान की इन्तज़ार कर रही बाँहों में, यह व्यक्ति पीछा करनेवाले अत्याचारियों से शरण पाता है।

10. After all, they contain the very thoughts of the Almighty, recorded for our benefit.

आखिर, इसमें सर्वशक्तिमान परमेश्वर के विचार जो दर्ज़ हैं और उसने ये विचार हमारे फायदे के लिए लिखवाए हैं।

11. Because Jehovah is almighty and all-wise, nothing can stop him from fulfilling his purpose.

जब हम जान जाते हैं कि यहोवा सर्वशक्तिमान और बुद्धिमान परमेश्वर है, तो हमारा यकीन बढ़ता है कि वह अपने सभी वादे पूरे करने के काबिल है।

12. Nothing in heaven or on earth can prevent the Almighty God from carrying out his purpose.

स्वर्ग या पृथ्वी की कोई भी चीज़ सर्वशक्तिमान परमेश्वर को अपने उद्देश्य को पूरा करने से रोक नहीं सकती।

13. IMAGINE how fear-inspiring “the war of the great day of God the Almighty” will be!

‘सर्वशक्तिमान परमेश्वर के महान दिन का युद्ध!’ सोचिए वह दिन कितना भयानक और दिल दहला देनेवाला होगा!

14. 12 Certainly, it is a singular honor to bear the name of the almighty God, Jehovah.

12 इसमें कोई शक नहीं कि सर्वशक्तिमान परमेश्वर, यहोवा का नाम धारण करना अपने आप में एक अनोखा सम्मान है, जो बहुत कम लोगों को मिलता है।

15. Why, “to gather them together to the war of the great day of God the Almighty”!

“कि उन्हें सर्वशक्तिमान परमेश्वर के उस बड़े दिन की लड़ाई के लिये इकट्ठा करें”!

16. His being almighty and the Creator of all creatures gives God the right to rule over them.

सर्वशक्तिमान और सारी सृष्टि का सृष्टिकर्ता होने के कारण परमेश्वर का उन पर शासन करने का अधिकार बनता है।

17. Likewise, titles such as Lord, Almighty, Father, and Creator call attention to different facets of God’s activities.

उसी तरह परमेश्वर की भी कई उपाधियाँ हैं जैसे प्रभु, सर्वशक्तिमान, पिता और सिरजनहार। इनमें से हरेक उपाधि हमें परमेश्वर की शख्सियत के किसी एक पहलू के बारे में बताती है।

18. How could any part of an almighty Godhead—Father, Son, or holy spirit—ever be lower than angels?

सर्वशक्तिमान ईश्वरत्व का कोई हिस्सा—पिता, पुत्र या पवित्र आत्मा—स्वर्गदूतों से कुछ ही कम किस तरह हो सकता था?

19. How beautifully Jehovah has displayed himself to be a wise and loving user, not abuser, of his almighty power!

यहोवा ने कितनी बखूबी से साबित किया है कि वह अपने सर्वशक्तिमान सामर्थ्य का, एक ग़लत इस्तोमल करनेवाला नहीं, बल्कि एक बुद्धिमान और प्रेममय इस्तेमाल करनेवाला है!

20. They learned that Jehovah alone is the almighty God, and they now address him by his personal name.

मगर उन्होंने सीखा कि सिर्फ यहोवा ही सर्वशक्तिमान परमेश्वर है और अब वे उसका नाम लेकर उसे पुकारते हैं।

21. Perhaps you wonder: ‘Is it really possible for a mere human to have a close relationship with Almighty God?

आप शायद कहें: ‘क्या एक मामूली इंसान के लिए सर्वशक्तिमान परमेश्वर के साथ करीबी रिश्ता कायम करना वाकई मुमकिन है?

22. In many cases, they blame Almighty God because they think that he is the real ruler of this world.

ज़्यादातर लोगों को लगता है कि दुनिया का मालिक तो परमेश्वर ही है और वही दुनिया पर राज कर रहा है, इसलिए दुनिया में जो कुछ हो रहा है, उसके लिए और कौन कसूरवार हो सकता है।

23. Because Noah devoted his life to the doing of Jehovah’s will, he enjoyed a warm, intimate relationship with Almighty God.

यहोवा की इच्छा पूरी करने में अपनी ज़िंदगी लगाने की वज़ह से उसका सर्वशक्तिमान परमेश्वर के साथ एक नज़दीकी और गहरा रिश्ता बन चुका था।

24. Today, few people would think that the laws of Almighty God are at issue if a physician suggested their taking blood.

जिस तरह पुराने ज़माने में लोग बेझिझक खून पीते थे, उसी तरह आज जब डॉक्टर खून चढ़ाने की सलाह देता है तो ज़्यादातर लोग बिना कोई सवाल किए इसे मान लेते हैं।

25. They feel that if God exists and is almighty and loving, the evil and suffering in the world cannot be explained.

वे सोचते हैं कि अगर परमेश्वर है, और अगर वह सर्वशक्तिमान होने के साथ-साथ हमसे प्यार करता है, तो फिर दुनिया में इतनी बुराई और दुःख-तकलीफें क्यों हैं?

26. Haj is a precious gift from the Almighty Allah and is a privilege for which a believer yearns throughout his life.

हज सर्वशक्तिमान अल्लाह से प्राप्त एक बहुमूल्य उपहार है और यह एक ऐसा विशेषाधिकार है जिसकी आकांक्षा मुसलमान जीवन भर संजोकर रखते हैं।

27. Because God is almighty, he is free to exercise his abilities as he wishes, not according to the wishes of imperfect humans.

क्योंकि परमेश्वर सर्वशक्तिमान है, वह अपनी योग्यताओं को जैसे वह चाहता है वैसे प्रयोग करने के लिए स्वतंत्र है, वैसे नहीं जैसे अपरिपूर्ण मनुष्य चाहते हैं।

28. Undoubtedly, all of you are fortunate whom the Almighty Allah has accepted as his guest and permitted you to visit His House. 2.

नि:संदेह आप खुशनसीब हैं कि सर्वशक्तिमान अल्लाह ने आपको अपने मेहमान के रूप में स्वीकार किया है और अपने घर की यात्रा करने की अनुमति दी है।

29. On that day, it was revealed from the Supreme Light of the Almighty – "What I had been waiting for, through the Yugas (eons), is realized".

तुम पतिव्रता हो, अत: मैं तुम्हें बताता हूँ कि मैं यम हूँ और आज तुम्हारे पति सत्यवान् की आयु क्षीण हो गयी है, अत: मैं उसे बाँधकर ले जा रहा हूँ।

30. The title “the Alpha and the Omega” applies to Jehovah, stressing that there was no almighty God before him and that there will be none after him.

“अल्फा और ओमिगा” यह उपाधि यहोवा पर लागू होती है क्योंकि उसके पहले न तो कोई सर्वशक्तिमान परमेश्वर था और ना होगा।

31. 4 In the Bible, the true God is identified by such expressions as “God Almighty,” “the Most High,” “Grand Creator,” “Grand Instructor,” “Sovereign Lord,” and “King of eternity.”

४ बाइबल में “सर्वशक्तिमान् ईश्वर,” “परमप्रधान,” “महान सृजनहार,” “महान उपदेशक,” “सर्वसत्ताधारी प्रभु,” और “सनातन राजा” जैसी अभिव्यक्तियों से सच्चे परमेश्वर की पहचान करायी गयी है।

32. (Psalm 145:20) Then the song of Moses and the song of the Lamb will reach a crescendo: “Great and wonderful are your works, Jehovah God, the Almighty.

(भजन १४५:२०) तब मूसा का गीत और मेम्ने का गीत उत्कर्ष तक पहुँचेगा: “हे सर्वशक्तिमान प्रभु परमेश्वर, तेरे कार्य्य बड़े, और अद्भुत हैं, हे युग युग के राजा, तेरी चाल ठीक और सच्ची है।

33. Although he is the almighty Creator of our vast universe, Jehovah assures us that he is willing and eager to listen to our prayers and to respond to them.

हालाँकि यहोवा इस पूरे विश्व का सृष्टिकर्ता और सर्वशक्तिमान परमेश्वर है, फिर भी वह हमें यकीन दिलाता है कि वह हमारी प्रार्थनाएँ सुनने और उनका जवाब देने के लिए बेताब रहता है।

34. (Ezekiel 1:1, 14-28) Yes, Jehovah’s organization, like the almighty Sovereign in control of it, is supremely adaptable, responsive to the ever-changing situations and needs it must address.

(यहेजकेल 1:1, 14-28) जी हाँ, यह स्वर्गीय संगठन पूरी तरह सर्वशक्तिमान महाराजाधिराज यहोवा के काबू में है, और उसी की तरह लाजवाब तरीके से खुद को ढाल सकता है, यानी नित बदलते हालात के मुताबिक कैसी भी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए कार्यवाही कर सकता है।

35. 15 “In view of humankind’s sad plight and the nearness of the ‘war of the great day of God Almighty,’ called Armageddon (Revelation 16:14, 16), we as Jehovah’s Witnesses resolve that:

१५ “इंसानों की इस बुरी हालत को और अरमगिदोन कहलानेवाली ‘सर्वशक्तिमान परमेश्वर के बड़े दिन की लड़ाई’ (प्रकाशितवाक्य १६:१४, १६) को पास आते देख, हम यहोवा के साक्षी इस बात का दृढ़-संकल्प करते हैं:

36. (2 Peter 1:19-21) This inspired book contains abundant evidence that prophecies the almighty God, Jehovah, has made are reliable—as reliable, in fact, as the movements of heavenly bodies “predicted” in countless almanacs.

(२ पतरस १:१९-२१) ईश्वर द्वारा प्रेरित इस किताब में ढेरों सबूत हैं कि जो भविष्यवाणियाँ सबसे शक्तिशाली परमेश्वर यहोवा ने कीं, वे सब भरोसेमंद हैं।

37. (Zephaniah 2:3) It reaches its climax in “the war of the great day of God the Almighty . . . , called in Hebrew Har–Magedon [Armageddon],” in which “the kings of the entire inhabited earth” are annihilated.

(सपन्याह 2:3) वह दिन, “सर्वशक्तिमान परमेश्वर के उस बड़े दिन की लड़ाई” के साथ खत्म होगा, “जो इब्रानी में हर-मगिदोन कहलाता है।” और उस लड़ाई में ‘सारे संसार के राजा’ नाश किए जाएँगे।

38. So the discovery of the Bible’s clear teaching that Jesus is the Son of God and not Almighty God himself was a great source of joy to my wife and me.—Mark 12:30, 32; Luke 22:42; John 14:28; Acts 2:32; 1 Corinthians 11:3.

सो बाइबल की यह स्पष्ट शिक्षा पाना कि यीशु परमेश्वर का पुत्र है और स्वयं सर्वशक्तिमान परमेश्वर नहीं है, मेरे और मेरी पत्नी के लिए बड़ी खुशी का कारण था।—मरकुस १२:३०, ३२; लूका २२:४२; यूहन्ना १४:२८; प्रेरितों २:३२; १ कुरिन्थियों ११:३.

39. (1 John 3:10-12) Killing people in the name of God, whether during inquisitions or in wars, is similar to the ancient practice of sacrificing children to false gods, a thing that Almighty God says he ‘had not commanded and that had not come up into his heart.’ —Jeremiah 7:31.

(१ यूहन्ना ३:१०-१२) परमेश्वर के नाम से लोगों की हत्या करना, चाहे धार्मिक न्यायालय में या युद्धों में, झूठे देवताओं को बच्चों का बलिदान देने की प्राचीन रीति के समान है, एक बात जिसे सर्वशक्तिमान परमेश्वर कहता है कि उसने ‘जिसकी आज्ञा कभी न दी और न उसके हृदय में वह कभी आया।’—यिर्मयाह ७:३१.